थाना पलारी

      थाना पलारी की स्थापना सन् 1906 में हुई इसके पूर्व थाना ग्राम दतान में था और पलारी आउट पोस्ट था । इसका क्षेत्रफल 1810 वर्ग किलोमीटर एवं कुल जनसंख्या 150000 लगभग है । इसमें 130 ग्राम आते है, जिसमें 02 ग्राम 01 उपरनडीह 02 सोनसरी विरान क्षेत्र है । क्षेत्र के पलारी- गुमा, ससहा, जर्वे, रोंहासी, भवानीपुर में शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला है यहां मुख्य डाकघर तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र है । इसके पूर्व में बालसमुंद नामक बड़ा तालाब है तथा एक पौराणिक शिव मंदिर है जहां पर कार्तिक पूर्णिमा में हर साल मेला लगता है , पश्चिम में गातापार में रनबौर मेला पौष माह में लगता है, भण्डारपुरी में भी विजयादशमी को गुरू घासीदास के नाम से पुरे सतनामी समाज का एक बहुत बड़ा मेला लगता है , इसी से लगा सिरपुर है जहां श्ंकर जी प्राचीन मंदिर है , एवं स्थापत्य कला की अनुपम कृति लक्ष्मण देवालय है । यहां भी माघ पूर्णिमा में हर साल मेला लगता है, क्षेत्र में सिंचाई हेतु नहरों का जाल बिछा हुआ है, यहां की मुख्य फसल धान है । यहां प्रमुख जातियां सतनामी, तेली, कुर्मी की बाहुल्यता है । ग्राम रोहांसी से 03 किलोमीटर की दूरी पर धमनी पर्यटन स्थल है जहां वन विभाग का विश्राम गृह है । थाने के अंतर्गत सन् 1881 में गिधपुरी चौकी की स्थापना हुई, जिसमें 35 गांव आते है । थाना पलारी का भवन निर्माण  1996 मे स्थापना हुआ ।